Advertisement


CUET प्रवेश : DU, BHU, JNU, AMU, AU प्रवेश फार्म में स्लाॅट सिस्टम को लेकर है परेशान, तो ये खबर दूर कर देगी सारी परेशानी


National Testing Agency : Common Universities Entrance Test (CUET) अंडरग्रेजुएट कोर्सेज एडमिशन के लिए फार्म भरने वाले छात्र-छात्राओं के बीच स्लाॅट को लेकर उहापोह है कि आखिरकार यह क्या है। जबकि National Testing Agency ने इस संदर्भ में कयी बार जानकारी दी है। छात्र-छात्राओं के लगातार सवाल पूछे जाने पर आइए हम इसे आसान भाषा में समझाते है।

प्रवेश फार्म में दो प्रकार है स्लाॅट -

National Testing Agency द्वारा बनाए गए फार्म में दो प्रकार का स्लाॅट है। पहले स्लाॅट में अधिकतम 4 टेस्ट (विषय) चुने जा सकते है। वही दूसरे स्लाॅट में अधिकतम 5 टेस्ट (विषय) चुने जा सकते है। जरूरी नही कि आप दोनो स्लाॅट भरे, ये आपके ऊपर है कि आपको कितने विषय का किस किस यूनिवर्सिटीज के जरूरत के अनुसार भरना है।

अधिकतम नौ टेस्ट देने का प्रावधान -

छात्र-छात्राएँ अपने जरूरत के अनुसार अधिकतम दोनो स्लाॅट मिलाकर नौ टेस्ट दे सकते है। हालाँकि व्यवाहारिक रूप से फार्म भरने पर आपको दस टेस्ट दिखाएगा General Test को गिनकर। छात्र-छात्राओं को अधिकतम 6 Domain Subjects, 3 Languages, 1 General Test देने का अवसर है। अब आप अपने जरूरत के आधार पर टेस्ट चयन करेंगे।

किस स्लाॅट में क्या क्या ऑप्शन -

Slot 1

1 A : 13 भाषा में कोई एक ले सकते है

Domain Subject 1 : 27 डोमन सब्जेक्ट में से

Domain Subject 2 : 27 डोमन सब्जेक्ट में से 

General Test: Yes or No करने का ऑप्शन 

Slot 2 

Additional Language 1 : 20 अन्य भाषा में से चुनने का विकल्प 

Additional Language 2 : 20 अन्य भाषा में से चुनने का विकल्प 

Domain Subject 3 : 27 डोमन सब्जेक्ट में से 

Domain Subject 4 : 27 डोमन सब्जेक्ट में से

Domain Subject 5 : 27 डोमन सब्जेक्ट में से

Domain Subject 6 : 27 डोमन सब्जेक्ट में से

ध्यान रखते योग्य बात -

1 : स्लाॅट बढते ही फीस दुगुना हो जाएगा।

2 : अगर दूसरे स्लाॅट में कोई सब्जेक्ट नही लेना है तो दूसरे स्लाॅट के सभी ऑप्शन में Not Applicable डाल दिजिए।

3 : दो से ज्यादा डोमन सब्जेक्ट अगर आपको जरूरत है तो दूसरे स्लाॅट में जाना ही पड़ेगा, तो पहले आप अपनी जरूरत चेक कर लिजिए फिर भरिए।

4 : अनिवार्य लैंग्वेज सेक्शन के अलावा अन्य भाषा के लिए भी आपको दूसरे स्लाॅट में जाना ही होगा तो अपनी जरूरत पहले देख लें।

5 : बाकी जब फार्म आप भरेंगे तो और  आसानी से यह बात आपको समझ आ जाएगी।

6 : फार्म भरते समय संबंधित विश्वविद्यालय के जरूरत को जरूर ध्यान रखें कि उस कोर्स के लिए आपको कौन कौन का टेस्ट देना है।

बाकी हर छोटी बड़ी अपडेट के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल व वेबसाइट के खबरों से अपडेट रहिए। वेबसाइट पर पहली बार आए हैं तो सबसे तेज अपडेट पाने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल से जुड़िये जिसका लिंक नीचे हरे पट्टी में दिया गया है।
Previous Post Next Post
Advertisement


फास्टर अप्डेट्स के लिए जुड़िये हमारे टेलीग्राम चैनल से - यहाँ क्लिक करिये

एडवरटाइज हटाएं यहाँ क्लिक करें